यूं एक फ़ैसले से इमरान ख़ान ने जीत लिया दुनिया का दिल

इमरान ख़ान ने भारत और पाकिस्तान के बीच हालिया तनाव के बाद होने वाली संसद की संयुक्त बैठक को संबोधित करते हुए कहा था कि सदभावना के तहत भारतीय पायलट अभिनन्दन को शुक्रवार को रिहा कर दिया जाएगा। उनका कहना था कि हम शांति चाहते हैं, हमें मजबूर न किया जाए। उन्होंने कहा कि हमारा आदर्श टीपू सुलतान है बहादुरशाह ज़फ़र नहीं क्योंकि टीपू सुलतान ने अंग्रेज़ों की ग़ुलामी पर इज्ज़त की मौत को प्राथमिकता दी और बहादुरशाह ज़फ़र ने अंग्रेज़ों के हाथों गिरफ़्तार होना क़ुबूल कर लिया।

उक्त बयान के बाद सोशल मीडिया ट्वीटर पर दोनों देशों से संबंध रखने वाली प्रसिद्ध हस्तियों ने इमरान ख़ान के बयान को स्थिति के दृष्टिगत महत्वपूर्ण और सकारात्मक क़रार दिया।

भारतीय राज्य पंजाब के वरिष्ठ कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि एक उच्च काम अपना रास्ता ख़ुद बनाता है, आपकी सद्भावना से अरबों लोगों में ख़ुशी की लहर दौड़ गयी, राष्ट्र ख़ुशी मना रहा है, मैं उनके माता पिता और प्रेम करने वालों के लिए बहुत ख़ुश हूं।

भारतीय पत्रकार स्मिता शर्मा ने ट्वीट किया कि सफलता का दावा और शोर शराबे में (युद्ध बंदी) अभिनंदन की घर वापसी संतोष का कारण है, बहुत शुक्रिया इमरान ख़ान।

भारतीय रक्षा विशेषज्ञ और पूर्व आर्मी कर्नल अजय शुक्ला ने “दृष्टिकोण के मोर्चे” पर होने वाले तनाव को संभालने पर पाकिस्तान की सराहना की और उक्त फ़ैसले को इस्लामाबाद की पूर्ण सफलता क़रार दिया।

भारत नियंत्रित कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने भी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान की सराहना की और कहा कि उन्होंने सही अर्थों में एक युक्तकर्ता की भूमिका अदा की। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने युक्तिकर्ता होने का प्रदर्शन किया, यह समय है कि हमारे राजनेता वर्तमान तनाव को समाप्त करने के लिए कार्यवाही करें, जम्मू कश्मीर के लोग मानसिक पीड़ा सहन कर रहे हैं, यह लोग कितना और सहन करेंगे।

भारतीय लेखक और साहित्यकार कृष्ण प्रताप सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने अपने भारतीय समकक्ष के मुक़ाबले में अधिक बेहतर भूमिका अदा की और उन्हें चित कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *