अजमेर शरीफ दरगाह में माननीय प्रधानमंत्री की चादर पेश करने की प्रेस विज्ञप्ति:

अजमेर (राजस्थान), 06 मार्च, 2019: केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज यहाँ कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी, “इंसानियत और इंसाफ” के लिए सूफी-संतों के संस्कार और आतंकवाद के खिलाफ “राष्ट्रवादी योद्धा” के संकल्प से भरपूर हैं।
श्री नकवी ने कहा कि भारत के आध्यात्मिक संतों-सूफियों की संस्कृति और संस्कार; दहशतगर्दी और आतंकवाद को परास्त करने और इंसानियत और अमन की गारंटी है।
श्री नकवी ने अजमेर शरीफ में ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती की दरगाह पर ख्वाजा साहब के 807वे उर्स के अवसर पर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की चादर पेश की और बड़ी संख्या में उपस्थित समाज के सभी तबकों के लोगों को उनके सन्देश को पढ़ कर सुनाया।   प्रधानमंत्री ने अपने संदेश में ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती के वार्षिक उर्स के अवसर पर भारत तथा पूरे विश्व में उनके अनुयायियों को शुभकामना एवं बधाई दी।
प्रधानमंत्री ने अपने संदेश में कहा, “भारत में विभिन्न धर्मों, सम्प्रदायों, मान्यताओं और आस्थाओं का सद्भावपूर्ण सह-अस्तित्व ही हमारे देश की खूबसूरती है। हमारे देश में विभिन्न संतों, पीर व फकीरों ने समय समय पर शांति, एकता और सद्भावना का पैगाम दिया है। जीवन में अनुशासन, शालीनता और संयम के प्रसार में उनकी भूमिका प्रमुख रही है।”
प्रधानमंत्री ने अपने सन्देश में कहा, “ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती भारत की महान आध्यात्मिक परम्पराओं के प्रतीक हैं। ‘गरीब नवाज़’ द्वारा की गयी मानवता की सेवा भविष्य में पीढ़ियों के लिए प्रेरणा बनी रहेगी। इन महान सूफी संत के वार्षिक उर्स के अवसर पर दरगाह अजमेर शरीफ पर चादर भेजते हुए मैं उनके प्रति अपनी श्रद्धा व्यक्त करता हूँ।”
प्रधानमंत्री द्वारा भेजी गई चादर का समाज के हर वर्ग के लोगों ने पूरे जोश-जुनून के साथ स्वागत किया।
अपने सम्बोधन में श्री नकवी ने कहा कि भारत सुरक्षित हाथों में है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश और देशवासियों की सुरक्षा से किसी भी तरह का कोई समझौता नहीं किया जायेगा।
श्री नकवी ने कहा कि इस्लाम को “सुरक्षा कवच” बना कर “आतंकवाद का तांडव” करने वाले संगठन और लोग; इस्लाम के सबसे बड़े दुश्मन हैं। श्री नकवी ने कहा कि भारत पूरी दुनिया के लिए सामाजिक-सांस्कृतिक सौहार्द और एकता की मिसाल है। हमें हर हाल में सौहार्द और एकता की अपनी इस सामाजिक बुनियाद की सांझी विरासत को और मजबूत करना होगा।
श्री नकवी ने कहा कि ख्वाजा गरीब नवाज का जीवन हमें सामाजिक सौहार्द और एकता की ताकत को और मजबूत करने की प्रेरणा देता है जिससे की हम टकराव-बिखराव पैदा करने वाली ताकतों को परास्त कर सकें। ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती का संदेश “विश्व शांति का प्रभावी संकल्प” है।
श्री नकवी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार का मूल मंत्र और संकल्प है “देश में विकास-देशवासियों में विश्वास”। हमारा लक्ष्य है “सबका साथ, सबका विकास।”
श्री नकवी ने इस अवसर पर कायड़ विश्रामस्थली, अजमेर में दरगाह कमिटी द्वारा स्थापित किये जा रहे ख्वाजा गरीब नवाज़ विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया। इसके अलावा श्री नकवी ने दरगाह अपार्टमेंट, सिविल लाइन अजमेर में ख्वाजा गरीब नवाज डिस्पेंसरी (ओपीडी) का उद्घाटन भी किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *