परमाणु समझौते के सदस्य देशों के मध्य राजनीतिक संकल्प मौजूद हैः अब्बास इराक़ची

ईरान के उप विदेशमंत्री ने कहा है कि परमाणु समझौते के सदस्य देशों के पास उन रुकावटों और कठिनाइयों का सामना करने की क्षमता मौजूद है जो इस समझौते से अमेरिका के निकल जाने के बाद उत्पन्न हुई हैं।

सैयद अब्बास इराक़ची ने कहा कि आज बुधवार को वियना में परमाणु समझौते और प्रतिबंधों को समाप्त करने के पहलुओं की समीक्षा की जायेगी।

उन्होंने कहा कि परमाणु समझौते के संयुक्त आयोग की बैठक सामान्य ढंग से होती रहती है और परमाणु ऊर्जा की अंतरराष्ट्रीय एजेन्सी ने 14वीं बार इस बात की पुष्टि की है कि ईरान अपने वचनों के प्रति कटिबद्ध है परंतु परमाणु समझौते से अमेरिका के निकल जाने के बाद प्रतिबंधों को समाप्त करने के संबंध में उसे विभिन्न कठिनाइयों का सामना है।

उन्होंने कहा कि परमाणु समझौते के सदस्य देश इस समझौते से अमेरिका के निकल जाने के बाद ऐसे विकल्प तलाश कर रहे थे जिससे अमेरिका के निकल जाने के बाद होने वाली क्षति की भरपाई की जा सके।

ज्ञात रहे कि सोमवार से वियना में द्विपक्षीय और बहुपक्षीय प्रतिनिधिमंडलों के बीच विशेषज्ञ स्तर की बैठक हो रही है जिसमें परमाणु समझौते से अमेरिका के निकल जाने के बाद के प्रभावों और उससे मुकाबले के मार्गों आदि विषयों की समीक्षा की जायेगी। सैयद अब्बास इराक़ची की अध्यक्षता में ईरानी प्रतिनिधिमंडल भी मंगलवार की सुबह वियना पहुंचा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *