गलत नहीं किया है तो सामने आये IT ग्रिड्स CEO

हैदराबाद : वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के विधायक बुग्गना राजेंद्रनाथ रेड्डी ने सवाल किया कि मान लेते है कि सेवा मित्र में 30 लाख लोगों की जानकारी तेलुगु देशम पार्टी की है तो तीन करोड़ लोगों की जानकारी किसने आईटी ग्रिड्स को दी है? आईटी ग्रिड्स के सीईओ अशोक से पूछताछ करे तो सच का पता चल जाएगा। सच में देखा जाए तो अशोक को छिपाकर क्यों रखा जा रहा है?राजेंद्रनाथ रेड्डी ने शुक्रवार को पार्टी की केंद्रीय कार्यालय में मीडिया से यह बात कही।

उन्होंने यह भी सवाल किया कि निर्वाचन अधिकारी बता रहे है कि फार्म 7 के जरिए आवेदन करना कोई अपराध नहीं है, फिर भी आंध्र प्रदेश सरकार न जाने क्यों डर रही है? उन्होंने आगे कहा कि आईटी ग्रिड्स डाटा चोरी मामले में चंद्रबाबू ने अब तक स्पष्ट जवाब नहीं दिया है। मगर जल्दबाजी में दो जीओ जारी किये है। साथ ही सेवा मित्र ऐप और फार्म 7 की जांच के लिए दो सिट को भी गठित किया है।

विधायक ने कहा कि आंध्र प्रदेश में फर्जी वोट के बारे में वाईएसआरसीपी ने निर्वाचन आयोग से पहले ही शिकायत कर चुकी है। फर्जी वोट हटाने के लिए फार्म 7 को अपलोड किया गया है। इसमें टीडीपी को क्या आपत्ति है समझ में नहीं आ रहा है। उन्होंने आगे कहा कि सेवा मित्र ऐप में टीडीपी पूरी तरह से डूब गई है। अब भगवान भी टीडीपी को नहीं बचा पाएगा।

विधायक ने कहा कि डाटा चोरी मामले को गुमराह करने के लिए फार्म 7 के खिलाफ 300 से अधिक मामले दर्ज किये है। ऐसा लगता है कि चुनाव आयोग की जिम्मेदारी भी तेलुगु देशम पार्टी ने ली है।

उन्होंने लोकेश को सुझाव दिया कि वे ट्वीट करना बंद कर दें और लोगों के बीच आये। तीन चार दिनों में चुनावी अधिसूचना जारी होने वाली है। इस बात को ध्यान में रखते हुए टीडीपी ने एक सौ जीओ जारी किये हैं। आने वाले चुनाव में प्रदेश की जनता ही चंद्रबाबू को सबक सिखाने के लिए तैयार है।

इससे पहले अनंतपुर में वाईएसआर कांग्रेस पार्टी की विधायक रोजा ने कहा कि आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री नारा चंद्रबाबू नायुडू वोट के बदले नोट मामले में रंगे हाथों पकड़े गये एक चोर हैं। प्रदेश के लोगों का डाटा चोरी करने वाले आईटी मंत्री नारा लोकेश एक शातिर चोर है। रोजा ने शुक्रवार को मीडिया से यह बात कही।

उन्होंने सरकार से मांग की है कि प्रदेश के लोगों के साथ धोखा करने वाले चंद्रबाबू और लोकेश को तुरंत किया जाए। साथ ही आंध्र प्रदेश के लोगों की गोपनीय समाचार को निजी संस्थाओं को सौंपे जाने की घटना पर केंद्रीय चुनाव आयोग को तुरंत हस्तक्षेप करना चाहिये।

विधायक रोजा ने यह भी मांग की है कि कलर फोटो के साथ जुड़ी मतदाता सूची को चोरी किये जाने के आरोप के चलते तेलुगु देशम पार्टी को चुनाव लड़ने से रोका जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *