ओवैसी ने युवाओं को दी यह नसीहत

हैदराबाद : एआईएमआईएम के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि संसदीय प्रणाली में परिवर्तन की आवश्यकता है। लोकतंत्र को और शक्तिशाली बनने की आवश्यकता है। ओवैसी ने रविवार को बिरला सभागार में आयोजित ‘टॉक विद असद’ कार्यक्रम यह बात कही।

उन्होंने आगे कहा कि संसद में लोगों की समस्याओं पर और ज्यादा चर्चा होनी चाहिए। साथ ही विपक्षी सदस्यों के सवालों के जवाब प्रधानमंत्री को देनी चाहिए। ओवैसी ने युवकों द्वारा पूछे गये सवालों के जवाब भी दिये।

सांसद ने कहा कि संसद में लोगों की समस्याओं को लेकर आये सवालों का प्रधानमंत्री मोदी ने ठीक प्रकार से जवाब नहीं दिये, बल्कि भाषणबाजी करते हुए गुमराह किया है। एक सवाल के जवाब में ओवैसी ने कहा कि इन पांच सालों में कश्मीर की समस्या और जटिल बन गई है। ऐसा कर दिया गया है कि इस समय कश्मीरी लोग अन्य क्षेत्रों में जाकर जीने की हालत नहीं रही है।

सांसद ने कहा कि पुलवामा आतंकी हमले में उपयोग की गई आरडीएक्स कैसी आई यह बात कोई नहीं पूछ रहा है। मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस को राफेल के सिवा कुछ और नहीं सूझ रहा है। नेता बदल रहे है मगर अल्पसंख्यकों को कुछ भी नहीं मिल रहा है।

उन्होंने कहा कि सभी को मिलकर आगे बढ़ना चाहिए। ऐसा करने पर ही समस्याओं का समाधान मिल जाएगा। देश की जनता सोच समझकर फैसला लेने पर ही एक शक्तिशाली सरकार बन सकती है। राजनीति में त्याग किसी काम नहीं आएगी। जिंदगी जी कर ही लोगों की सेवा करनी चाहिए। सांसद ने युवकों को सुझाव दिया कि वो टीवी देखना कम और अखबार पढ़कर अपना ज्ञान भंडार बढ़ाये।

ओवैसी बताया कि संसद निधि को लोगों के कल्याण कार्यक्रमों के लिए खर्च करते हैं। साथ ही सप्ताह के छह दिन पार्टी कार्यालय दारुस्सलाम में लोगों के लिए उपस्थित रहते है। उन्होंने युवकों से आह्वान किया कि वे वोट प्रतिशत में बढ़ाने करने के लिए आवश्यक कदम उठाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *