जब कुछ देश इराक़ पर हंस रहे थे तो हमने साथ दियाः रूहानी

राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी इस बात की ओर इशारा करते हुए कि ईरानी राष्ट्र कठिन समय पर इराक़ी राष्ट्र के साथ रहा है और किसी भी प्रकार की सहायता से संकोच नहीं किया, कहा कि तेहरान, इराक़ की शांति और स्थिरता को ईरान की शांति और विकास का मार्ग समझता है।

उन्होंने यह बयान करते हुए कि ईरान और इराक़ के विकास और स्थिरता के बिना क्षेत्रीय विकास और सुरक्षा असंभव है, कहा कि इन हालात में कि जब अमरीका अत्याचारपूर्ण, ग़ैर क़ानूनी और सुरक्षा परिषद के मापदंडों के विपरीत ईरानी राष्ट्र पर प्रतिबंध लगाने, दबाव डालने और मित्र देशों के बीच दूरियां पैदा करने के प्रयास में है, ईरान और इराक़ को चाहिए कि वह बहुपक्षीय संंबंधों को मज़बूत और गहरा करके तथा विकास करके इसके मुक़ाबले में डट जाएं।

राष्ट्रपति हसन रूहानी ने दोनों देशों के वरिष्ठ शिष्टमंडल की वार्ताओं को सकारात्मक क़रार दिया और कहा कि आज ईरान और इराक़ के सभी अधिकारी, तेहरान-बग़दाद संबंधों में बहुपक्षीय विकास के लिए मज़बूत इरादा रखते हैं।

उन्होंने इसी प्रकार क्षेत्रीय शांति और स्थिरता और आतंकवाद से सम्पूर्ण संघर्ष की आवश्यकता पर बल दिया और कहा कि ईरानी सरकार और राष्ट्र जिस प्रकार से आतंकवादी गुट दाइश से संघर्ष के कठिन दिनों में इराक़ी सरकार और राष्ट्र के साथ था उसी प्रकार देश के पुनर्निमाण में भी इराक़ी सरकार और जनता के साथ खड़ा रहेगा।

इस बैठक में इराक़ के प्रधानमंत्री आदिल अब्दुल महदी ने भी ईरान और इराक़ के बीच संबंधों में अधिक से अधिक विस्तार की मांग की।

दूसरी ओर राष्ट्रपति रूहानी ने इराक़ के संसद सभापति मुहम्मद अलबूसी से मुलाक़ात में विभिन्न क्षेत्रों में दोनों देशों के विस्तृत होते संबंधों की ओर इशारा करते हुए कहा कि दोनों देशों की संसदें, दोनों देशों के संबंधों में और अधिक विस्तार की भूमिका अदा कर सकती हैं।

उन्होंने कहा कि आज दोनों देशों के बीच संबंधों को अधिक से अधिक विस्तृत करने के लिए ईरान और इराक़ के सारे अधिकारियों में मज़बूत इरादा पाया जाता है। राष्ट्रपति हसन रूहानी ने दोनों देशों के व्यापारियों और अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में सक्रिय लोगों को अधिक से अधिक सुविधाएं दिए जाने के लिए ईरान और इराक़ की सरकारों के निर्णय की ओर संकेत करते हुए कहा कि तेहरान और बग़दाद को दोनों देशों के बैंकिंग सहयोग को विस्तृत करने के लिए अधिक से अधिक प्रयास करने चाहिए।

इस मुलाक़ात में इराक़ी संसद सभापति ने ईरानी राष्ट्रपति की बग़दाद यात्रा को संबंधों के विस्तार में महत्वपूर्ण मोड़ क़रार दिया और आशा व्यक्त की कि दोनों देशों के संंबंध अधिक से अधिक विस्तृत होंगे।

उधर राष्ट्रपति रूहानी ने इराक़ के विभिन्न राजनैतिक दलों के नेताओं और प्रतिनिधियों से मुलाक़ात में कहा कि अभी क्षेत्र में सम्पूर्ण शांति और स्थिरता तथा आतंकवाद के समूल सफ़ाए तक पहुंचने का रास्ता बहुत लंबा है।

उन्होंने कहा कि आतंकवाद से संघर्ष में इराक़ की महत्वपूर्ण उपलब्धियों के बावजूद यह संघर्ष अभी समाप्त नहीं हुआ है और आतंकवाद के सम्पूर्ण विनाश तक ईरान, इराक़ का यथावत समर्थक है।

राष्ट्रपति ने आतंकवाद के मुक़ाबले में इराक़ी सेना और जनता के डट जाने की सराहना की और कहा कि उस समय जब कुछ देश मुस्कुरा कर यह सोच रहे थे कि इराक़ी जनता दाइश के आतंकियों से पराजित हो जाएगी तब ईरानी राष्ट्र, इराक़ी जनता के साथ था और हमने साथ मिलकर आतंकवादियों को भीषण पराजय का स्वाद चखाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *