कोई भी देश ईरान व इराक़ के बीच मतभेद पैदा नहीं कर सकताः रूहानी

डाॅक्टर हसन रूहानी ने बुधवार की रात इराक़ यात्रा की समाप्ति के बाद स्वदेश लौटने पर तेहरान हवाई अड्डे पर पत्रकारों से बात करते हुए अपनी इस यात्रा को दोनों देशों के संबंधों में एक नया मोड़ बताया और आशा जताई कि यह यात्रा, दोनों राष्ट्रों और इसी तरह क्षेत्रीय संबंधों के विकास का मार्ग प्रशस्त करेगी और दोनों देशों हित में रहेगी। राष्ट्रपति ने बताया कि द्विपक्षीय वार्ताओं में इस बात पर बल दिया गया कि ईरान व इराक़ के घनिष्ठ संबंधों को इस प्रकार आगे बढ़ाया जाए कि अगले चरणों में अन्य देश भी इनमें शामिल हो सकें और ये संबंध त्रिपक्षीय व बहुपक्षीय बन सकें।

डाॅक्टर हसन रूहानी ने बताया कि सुरक्षा व क्षेत्रीय मामलों में भी बहुत अच्छे समझौते हुए हैं और दोनों देशों की ओर से एक अत्यंत अहम संयुक्त बयान जारी किया गया तथा अहम दस्तावेज़ों पर हस्ताक्षर किए गए। उन्होंने बताया कि इराक़ी अधिकारियों से मुलाक़ात में सीमावर्ती मामले पर भी बात हुई और इस संबंध में भी पिछले समझौतों के क्रियान्वयन पर बल दिया गया। राष्ट्रपति ने बताया कि इराक़ी अधिकारियों से मुलाक़ात में इस बात पर सहमति बनी कि पर्यटन विकास के लिए दोनों देशों के पर्यटकों का वीज़ा निःशुल्क रहे। उन्होंने कहा कि हर साल तीस लाख इराक़ी, ईरान आते हैं जबकि बीस लाख ईरानी, इराक़ जाते हैं। डाॅक्टर हसन रूहानी ने इराक़ को ईरानी वस्तुओं के निर्यात का पहला केंद्र बताया और कहा कि दोनों देशों के व्यापारियों के काम में सरलता के लिए इस बात पर सहमति हुई कि व्यापार वीज़ा जारी करने में अधिक सुविधाएं दी जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *