क्लाइमेट चेंज के ख़िलाफ़ दुनिया में पहली बार इतना बड़ा प्रदर्शन, इटली के 182 शहरों के छात्रों ने किया प्रदर्शन

इरना के अनुसार, इन प्रदर्शनों के साथ पहली बार दुनिया के 123 देशों में 2000 मैदानों पर दसियों लाख नौजवानों ने जलवायु परिवर्तन के ख़िलाफ़ प्रदर्शन किया।

क्लाइमेट चेंज या जलवायु परिवर्तन के संबंध में पूरी दुनिया में चिंता पायी जाती है लेकिन अमरीकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प ने इस देश को पेरिस जलवायु समझौते से बाहर निकाल कर व्यवहारिक रूप से यह दर्शाया कि अमरीका को क्लाइमेट चेंज से निपटने में कोई रूचि नहीं है।

ट्रम्प ने तेल सहित जीवाष्म ईंधन का उत्पादन बढ़ाने के लिए पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के काल में ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन को कम करने के लिए बनाए गए नियमों को भी निरस्त कर दिया है।

दुनिया में जलवायु परिवर्तन की वजह से ज़मीन का अवसत तापमान बड़ेगा और महासागरों का जलस्तर बढ़ेगा जिसकी वजह से दुनिया भर में सूखा पड़ेगा तथा तेज़ गर्मी और ख़तरनाक तूफ़ान आएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *