ब्रुनेई के सुल्तान ने मजबूत इस्लामिक शिक्षा का आह्वान किया, देश में जल्द लागू होंगे शरिया कानून

ब्रुनेई, 03 अप्रैल (वेबवार्ता)। ब्रुनेई के सुल्तान ने बुधवार को देश में मजबूत इस्लामिक शिक्षा का आह्वान किया है। यह बयान ऐसे समय में आया है जब देश में नये शरिया कानून लागू होने वाले हैं। इनमें समलैंगिक यौन संबंधों और व्यभिचार के दोषियों को संगसार करना (पत्थर मार मार का मौत के घाट उतारना) शामिल है। सुल्तान हसनाल बोल्खिआ ने राजधानी बंदर सेरी बगवान के निकट अपने सार्वजनिक संबोधन में कहा, मैं इस देश में इस्लामिक शिक्षा को मजबूत होते देखना चाहता हूं। हालांकि इस दौरान उन्होंने विवादास्पद नयी दंड संहिता का न तो कोई जिक्र किया और न ही कोई घोषणा की, जिसकी उम्मीद की जा रही थी। सरकार ने पहले घोषणा की थी कि नयी संहिता बुधवार से पूरी तरह से लागू हो जाएगी। इक्यावन वर्षों से देश की बागडोर संभाल रहे सुल्तान ने यह भी कहा नये दंडों पर बढ़ती वैश्विक आलोचनाओं के बीच ब्रुनेई निष्पक्ष और प्रसन्न है। यूरोपीय संघ ने ब्रुनेई के नए कानूनों की बुधवार को आलोचना की और कहा कि शरिया कानून के तहत स्वीकृत क्रूर दंड प्रताड़ित करने के समान है और यह अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार समझौते का उल्लंघन है। इस मुल्क में पारित विधेयक में समलैंगिको के बीच यौन संबंधों और व्यभिचार पर संगसार करने, चोरी करने पर हाथ-पैर काटने जैसी सजा का प्रावधान है। वैश्विक स्तर पर इस फैसले की आलोचना हो रही है। ईयू के एक प्रवक्ता ने एक बयान में कहा, इसमें में कुछ दंडों को क्रिमिनल कोड में प्रताड़ना, क्रूरता, अमानवीय के तौर पर देखा जाता है। वैश्विक आलोचनाओं के बीच अमेरिका के कैलिफोर्निया में अधिकारियों तथा एलजीबीटीक्यू के नेता लॉस एंजिलिस में स्थित ब्रुनेई के होटलों का बहिष्कार करने की मांग में शामिल हो गए हैं। एल ए कन्ट्रोलर रोन गानपेरिन ने एक बयान में कहा, एक निर्वाचित अधिकारी के तौर पर मैं एंजिलिनोस के विविध समुदाय का प्रतिनित्व करता हूं और ब्रुनेई के शाही परिवार के होटलों का बहिष्कार करने की सबसे मांग करता हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *