मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले की सुनवाई शुरू

कुआलालम्पुर, 03 अप्रैल (वेबवार्ता)। मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री नजीब रजाक ने करोड़ों डॉलर के वित्तीय घोटाले के संबंध में बुधवार को अदालत में सुनवाई के दौरान अपने को बेकसूर बताया। करोड़ों डॉलर के वित्तीय घोटाले से जुड़े मामले की बुधवार को सुनवाई शुरू हुयी। पिछले साल चुनाव में उनकी अप्रत्याशित हार के करीब एक साल बाद यह सुनवाई शुरू हुयी है। नजीब (65) पर मलेशिया की अर्थव्यवस्था को विकसित करने में मदद के लिए स्थापित धन निधि 1एमडीबी में घपलेबाजी करने के आरोप हैं। इन आरोपों को लेकर उन्हें कई सुनवाई का सामना करना है और बुधवार को पहली सुनवाई शुरू हुयी। पिछले साल माना जा रहा था कि वह चुनाव में आसानी से जीत हासिल कर लेंगे और सत्ता पर अपने गठबंधन की लंबे समय से चली आ रही पकड़ को कायम रखेंगे, लेकिन उन्हें चुनावों में हार का सामना करना पडा। कठघरे में उपस्थित नजीब शांत दिखे और उन्होंने अपने खिलाफ लगे भ्रष्टाचार और धनशोधन के सात आरोपों में खुद को बेकसूर बताया। सुनवाई के लिए जब वह कुआलालम्पुर की अदालत पहुंचे तो वहां उनके कुछ समर्थक पहले से ही मौजूद थे। उनके समर्थकों ने नजीब जिंदाबाद के नारे लगाए। अभियोजन पक्ष की ओर से अटार्नी जनरल टॉमी थामस ने हाई कोर्ट से कहा कि आरोपी पूर्व प्रधानमंत्री हैं और वह करीब एक दशक तक देश के सबसे शक्तिशाली पद पर रहे हैं। इस दौरान उनके पास व्यापक अधिकार थे। उन्होंने कहा, इस तरह के विशेषाधिकार में व्यापक जिम्मेदारी भी होती है। आरोपी कानून से ऊपर नहीं हैं। अदालत ने सुनवाई की अगली तारीख 15 अप्रैल तय की। सुनवाई के लिए 10 मई तक की अवधि तय की गयी है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *