एनआईए ने सीआरपीएफ शिविर पर हमला मामले में यूएई से लाए गए आरोपी को गिरफ्तार किया

नई दिल्ली, 03 अप्रैल (वेबवार्ता)। दक्षिण कश्मीर में 2017 में सीआरपीएफ के शिविर पर हमले के संबंध में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) से पकड़कर लाए गए निसार अहमद तांत्रे को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने गिरफ्तार कर लिया। माना जाता है कि तांत्रे का भाई नूर त्राली ने जम्मू कश्मीर में जैश ए मोहम्मद आतंकी संगठन को फिर से मजबूत करने में मदद की। निसार हाल में यूएई चला गया था और माना जाता है कि वह पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर 14 फरवरी को हुए हमले के एक मुख्य षडयंत्रकारी के निरंतर संपर्क में था। इस हमले में 40 जवान शहीद हुए थे। तांत्रे को एक विशेष अदालत के सामने पेश किया गया जिसने उसे एनआईए की हिरासत में भेज दिया। उसे 30 दिसंबर 2017 की रात को दक्षिण कश्मीर के लेथपुरा में सीआरपीएफ के शिविर पर हमले के संबंध में गिरफ्तार किया गया। इस हमले में पांच जवान शहीद हुए थे। 36 घंटों की मुठभेड़ में जैश ए मोहम्मद के तीन आतंकवादी मारे गये थे। जैश ए मोहम्मद ने दो आत्मघाती हमलावरों को शिविर में भेजा था जिसमें एक पुलिसकर्मी का 16 साल का बेटा शामिल था जो हमले से कुछ महीने पहले संगठन में शामिल हुआ था। इससे पहले, एनआईए ने पिछले महीने 2017 हमले के मुख्य षडयंत्रकारी फयाज अहमद मैग्रे को पुलवामा से गिरफ्तार किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *