आईआरजीसी को लक्ष्य बनाकर दाइश को ज़िन्दा नहीं किया जा सकताः ज़रीफ़

विदेशमंत्री ने अमेरिका, जायोनी शासन और सऊदी अरब द्वारा क्षेत्र में आतंकवादियों के समर्थन की ओर संकेत के साथ कहा है कि क्षेत्र में आतंकवादियों को पुनः जीवित करने हेतु अमेरिकी प्रयास विफल होकर रहेगा।

विदेशमंत्री मोहम्मद जवाद ज़रीफ ने गुरूवार को ईरान विरोधी अमेरिका की ताज़ा कार्यवाही की प्रतिक्रिया में ट्वीट करके लिखा है कि हमारे क्षेत्र में आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में हारने वाले इतिहास को कभी नहीं मिटा सकते और इस्लामी क्रांति संरक्षक बल सिपाहे पासदारान को लक्ष्य बनाने से दाइश, अन्नुस्रा और उनसे संबंधित आतंकवादियों को दोबारा ज़िन्दा नहीं किया जा सकता।

विदेशमंत्री जवाद ज़रीफ ने अपने ट्वीट में लिखा है कि खेल खत्म हो चुका है और समय इस वास्तविकता का सामना करने का है कि आपने समस्त गलत चयन को अंजाम दिया है और कोई आपका राग नहीं सुनेगा।

ज्ञात रहे कि अमेरिकी सरकार ने ईरान पर राजनीतिक दबाव में वृद्धि करने के लक्ष्य से गत सोमवार को इस्लामी क्रांति संरक्षक बल सिपाहे पासदारान को आतंकवादी करार दिया था जिस पर प्रतिक्रियाओं का क्रम जारी है और ईरान सहित विश्व के विभिन्न देश और हस्तियां अमेरिका के इस घृणित कदम की भर्त्सना कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *