जन सेना और टीडीपी ने एकदूसरे का दिया साथ, अब डूबेगी दोनों की लुटिया

विशाखापट्टन : वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के महासचिव दाडी वीरभद्र राव ने कहा कि जन सेना के उम्मीदवारों ने चुनाव के दौरान अंतिम क्षणों तक तेलुगु देशम पार्टी के उम्मीदवारों को सहयोग किया है। इतना ही नहीं गाजुवाका में पवन कल्याण को जिताने के लिए तेलुगु देशम पार्टी के उम्मीदवार ने सहयोग किया है। दाडी वीरभद्र राव ने शुक्रवार को मीडिया से यह बात कही।

उन्होंने बताया कि नारा लोकेश ने विशाखा में बालकृष्ण के छोटे दामाद और टीडीपी के उम्मीदवार भरत को बाजू में रखकर जन सेना को सहयोग करने का सुझाव दिया है। मगर मतदाताओं ने टीडीपी की चाल को पहचाना। मतदाताओं के चहरे पर परिवर्तन की लहर स्पष्ट दिखाई दी है।

दाडी ने आरोप लगाया कि वोट खरीदने के लिए टीडीपी सरकार ने बड़े पैमाने पर पैसा बांटा है। चंद्रबाबू का रवैया एक राउडी शीटर जैसा रहा है। सत्ता के बल पर चुनाव अधिकारियों को डराया धमकाया गया है। हार जाने के डर से ही चंद्रबाबू ने संयम खोया है। 50 लाख वोटरों को जानबूझकर मतदाता सूची में से हटा दिया है।

दाडी ने कहा, “चंद्रबाबू का षड्यंत्र उजागर होने के डर से दो फिल्में बनाई गई हैं। मगर वो भी फेल हो गये। इतना ही नहीं चंद्रबाबू ने एनटीआर के पीठ में छुरा घोंपे जाने का भंडाफोड़ हो जाने के डर से ही रामगापाल वर्मा की लक्ष्मीस एनटीआर फिल्म को रिलीज होने से रोका है। चुनाव के दौरान टीडीपी के नेताओं ने मतदाताओं के हाथ पैर पकड़कर वोट मांगे हैं। साथ ही टीडीपी के नेता अच्चम नायुडू और गंटा श्रीनिवास राव ने मतदान केंद्रों में धांधलियां करने का भी प्रयास किया है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *