आक्रमणकारी देश यमन में अमरीकी और योरोपीय हथियारों को टेस्ट करना बंद करें और बाहर निकलेः मोहम्मद अली अलहूसी

मोहम्मद अली अलहूसी ने कहा कि आक्रमणकारी देश यमन की भूमि पर अमरीकी और योरोपीय हथियारों को टेस्ट करना बंद करें ।

संवाददाता के अनुसार, मोहम्मद अली अलहूसी ने अपने ट्वीटर हैंडल पर लिखा कि आक्रमणकारी देश यमन का अतिक्रमण व नकाबंदी बंद करें और इस देश से बाहर निकलें।

दूसरी ओर यमन के सूचना मंत्री ज़ैफ़लुल्लाह शामी ने भी कहा कि यूएई का यमन से पीछे हटने का इरादा सऊदी अरब के साथ उसके मदभेद और यमन में सऊदी अरब की हार को स्पष्ट करता है।

फ़्रांस प्रेस ने इसी हफ़्ते यूएई के अधिकारियों के हवाले से रिपोर्ट में कहा है कि अबू ज़हबी यमन में अपनी रणनीति जंग से शांति में बदलना चाहता है।

इसके बाद लेबनानी समाचार पत्र अलअख़बार ने लिखा कि यूएई दुनिया को यह बताने की कोशिश कर रहा है कि उसने यमन के दक्षिणी और पूर्वी प्रांतों में अपनी सैन्य मौजूदगी कम कर दी है जबकि सच्चाई इसके विपरीत है।

ग़ौरतलब है कि सऊदी अरब और उसके घटकों ने यमन पर मार्च 2015 से हमले शुरु किए। 4 साल से ज़्यादा समय से जारी इस जंग में 16000 से ज़्यादा यमनी हताहत, दसियों हज़ार घायल हुए जबकि दसियों लाख लोग बेघर हुए। सऊदी गठबंधन ने यमन की मूल रचनाओं को बुरी तरह तबाह किया है लेकिन इसके बावजूद वह यमन में अपने लक्ष्य साधने में नाकाम रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *