वनों को बचाने के लिए आगे आने की जरूरतः देवी -प्रावि शिवनंदी में अग्नि सुरक्षा गोष्ठी का आयोजन

रुद्रप्रयाग, 03 फरवरी (वेबवार्ता)। वन विभाग के रेंज कार्यालय रुद्रप्रयाग के तत्वावधान में अग्नि सुरक्षा गोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसमें क्षेत्रीय ग्रामीण एवं छात्रों ने वनों से आग से बचाने का संकल्प लिया। वन विभाग ने ग्रामीणों को आग से होने वाले नुकसान के प्रति जागरूक भी किया। प्रावि शिवानंदी में आयोजित अग्नि सुरक्षा गोष्ठी का शुभारंभ करते हुए वन सरपंच मरोड़ा देवी प्रसाद थपलियाल ने कहा कि वन हमारे लिए प्राणदायक है। कहा कि वनों को बचाने के लिए हर किसी को आगे आने की जरूरत है। वनों में आग लगने से वन संपदा के साथ ही वन्य जीवों को काफी नुकसान पहुंचता है, जिससे इसका सीधा पारिस्थिति तंत्र पर भी पड़ता है। वन दरोगा संतोष कुमार ने कहा कि चीड़ की पत्तियों के कारण अधिकांश जंगलों में आग तेजी फैलती है। इन पत्तियों को एकत्रित कर उरेडा विभाग को दिया जा सकता है। जिससे जंगलों को आग लगने से बचाया जा सकता है। कहा कि वनों का मनुष्य एवं जीव जन्तुओं के जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका होती है। वनों से जहां इमारती लकडियां मिलती है, वहीं इनसे शुद्ध हवा का संचार भी होता है। कहा कि जंगलों में आगे लगाने के बाद पकडे जाने पर सजा का प्राविधान भी है। उन्होंने सभी लोगों को जंगलों को बचाने के लिए आगे की अपील भी की। साथ ही प्रत्येक व्यक्ति से एक पेड लगाने की अपील भी की। इस अवसर पर वन कर्मी भूपेन्द्र भंडारी, सत्या प्रसाद, गीता देवी समेत कई ग्रामीण व छात्र उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *