राहुल का वादा-हर गरीब को प्रतिमाह 10 हजार, पीयू को बनाएंगे केंद्रीय विश्वविद्यालय -पूरे देश के किसानों का कर्जा होगा माफ

पटना, 03 फरवरी (वेबवार्ता)। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश के हर गरीब के लिए न्यूनतम आमदनी की गारंटी की अपनी घोषणा दोहराते हुए कहा कि केंद्र में यदि कांग्रेस की सरकार बनी तो देश के हर गरीब को प्रतिमाह 10 हजार रु. दिए जाएंगे और बिहार में शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि केंद्र में सरकार बनते ही देश भर के किसानों का कर्ज माफ करेंगे। बिहार की राजधानी पटना के गांधी मैदान में रविवार को आयोजित जनाकांक्षा रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि सत्ता में आने के बाद उनकी पार्टी की सरकार न्यूनतम आमदनी की गारंटी लागू करेगी और इसके तहत 10 हजार रुपये प्रतिमाह हर गरीब के बैंक खाते में दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि देश में धन की कमी नहीं है किंतु वर्तमान सरकार में यह धन केवल पूंजीपतियों की ही जेब में जा रहा है। कांग्रेस नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी साढ़े चार साल के कार्यकाल में अनिल अंबानी, नीरव मोदी, मेहुल चैकसी जैसे अरबपतियों और पूंजीपतियों की जेब में लाखों करोड़ रुपए गए जबकि मेहनतकश किसान को प्रतिदिन केवल 17 रुपये देने की घोषणा की गई है। किसानों का सम्मान नहीं करने का नरेंद्र मोदी की सरकार पर आरोप लगाते हुए राहुल ने कहा कि वर्तमान केंद्र सरकार ने पूंजीपतियों को लाखों-करोड़ों रुपए का ऋण देकर उन्हें देश छोड़कर भाग जाने दिया जबकि दूसरी तरफ मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में सत्ता में आते ही कांग्रेस की सरकार ने गरीब किसानों का कर्ज दो दिनों के अंदर माफ कर दिया। उन्होंने कहा कि केंद्र में सरकार बनते ही इसी तरह पूरे देश के किसानों का कर्ज माफ कर देंगे। केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार और बिहार में नीतीश कुमार की सरकार पर जनता को झूठे सपने दिखाने और उनसे किए गए वादों को पूरा नहीं करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि दोनों ही सरकारों ने शिक्षा, रोजगार और सभी के खाते में 15 -15 लाख रुपए देने के लिए किए गए अपने वादे को पूरा नहीं किया जबकि कांग्रेस पार्टी की सरकार जब भी सत्ता में आई है उसने जनता से किए अपने वादे को पूरा किया है। राहुल गांधी ने कहा कि मध्य प्रदेश,राजस्थान और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्रियों को उन्होंने अपने-अपने राज्य में दूसरी हरित क्रांति लाने का निर्देश दिया है और यदि कांग्रेस पार्टी सत्ता में आई तो बिहार में भी किसानों के हित में दूसरी हरित क्रांति लाई जाएगी। नोटबंदी और राफेल पर केंद्र सरकार को घेरते हुए राहुल गांधी ने कहा कि राफेल डील के जरिए उद्योगपति अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ का फायदा पहुंचाया गया है। अनिल अंबानी पर एक लाख करोड़ रुपए का कर्ज है और इस पैसे से पूरे देश में मनरेगा की तीन बार योजना चला कर गरीबों को फायदा पहुंचाया जा सकता था। राहुल गांधी ने घोषणा की कि किसानों के हित को ध्यान में रखते हुए मध्य प्रदेश,छत्तीसगढ़ राजस्थान में फूड प्रोसेसिंग उद्योग लगाया जाएगा और उसी तर्ज पर सत्ता में आने के बाद बिहार में भी इस तरह के उद्योग लगाए जाएंगे। बिहार में शिक्षा के गौरवशाली इतिहास की चर्चा करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि पटना विश्वविद्यालय जो यहां का गौरव था,आज इस विश्वविद्यालय के साथ -साथ अन्य विश्वविद्यालयों में भी शिक्षकों की कमी है और शिक्षा की व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है। छात्रों को समय पर डिग्री नहीं मिल रही और उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। राज्य में शिक्षा के स्तर को बेहतर बनाने के लिए उन्होंने घोषणा की कि कांग्रेस पार्टी सत्ता में आने के बाद पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा देगी। देश में बेरोजगारी की चर्चा करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि चीन अपने देश में प्रतिदिन 50 हजार युवाओं को रोजगार देता है जबकि मोदी की सरकार में भारत में 450 युवाओं को ही 24 घंटे में रोजगार मिल पाता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस जब सत्ता में थी तो उसने देश में हरित क्रांति, सफेद क्रांति, कंप्यूटर क्रांति, इंटरनेट रिवोल्यूशन के साथ-साथ शिक्षा के क्षेत्र में ऐतिहासिक काम किए। इसके अलावा कांग्रेस की सरकार ने भोजन के अधिकार और सूचना के अधिकार का कानून भी लागू किया। महागठबंधन को लोकसभा के चुनाव में जिताने की अपील करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में देश और गरीब के हित में काम करने की इच्छा शक्ति है, जिसके बल पर इसने हाल के दिनों में ही मध्य प्रदेश,राजस्थान और छत्तीसगढ़ में जनहित में काम किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *