भाजपा अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के संकल्प के साथ दृढ़ता से खड़ी है: शाह

नई दिल्ली, 03 फरवरी (वेबवार्ता)। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को कहा कि भाजपा अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के संकल्प के साथ दृढ़ता से खड़ी है और चाहती है कि राम जन्म भूमि न्यास के डिजाइन वाला मंदिर जल्द से जल्द बने। शाह ने संवाददाताओं से कहा कि यह मामला अदालत में लंबित है। इस बारे में सरकार ने 1993 में अधिग्रहित भूमि को राम जन्मभूमि न्यास को देने का फैसला किया है और इस बारे में कोर्ट में आग्रह किया है।

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने जोर दिया कि इस मामले में विपक्ष रोड़ा नहीं अटकाये। उन्होंने कहा कि विपक्ष राम मंदिर के मुद्दे पर अपना रूख स्पष्ट करे। शाह ने कहा, भाजपा ने अपना रूख स्पष्ट कर दिया है। हम उसी स्थान पर राम मंदिर के निर्माण के संकल्प के साथ दृढ़ता से खड़े हैं।

शाह ने कहा कि हम चाहते हैं कि जल्द से जल्द वहां राम जन्मभूमि न्यास के डिजाइन का मंदिर बने। नागरिकता संशोधन विधेयक के बारे में एक सवाल के जवाब में अमित शाह ने कहा कि पार्टी ने सोच समझकर यह फैसला किया है। इतनी बड़ी संख्या में शरणार्थियों को अधर में नहीं रखा जा सकता है। उन्होंने कहा कि हालांकि हम सभी दलों एवं पक्षों से इस बारे में बात कर रहे हैं। कुछ दलों के साथ बातचीत हुई भी है। इस बारे में गृह मंत्री बात कर रहे हैं। सभी के सुझाव के आधार पर आम सहमति बनाने का काम करेंगे।

शाह ने जोर दिया कि देश के लिये नागरिकता संशोधन विधेयक निहायत जरूरी है। सरकार की उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि 2014 के पहले देश के अंदर जो स्थिति थी, वो देश के लोकतंत्र में लोगों की आस्था को डिगाने वाली थी।

उन्होंने आरोप लगाया कि 2014 के पहले 30 साल तक देश की समस्याओं के समाधान के लिए दूरदर्शी सोच के साथ ठोस कदम नहीं उठाए गए। 2014 से पहले चुनाव जीतने के लिए सिर्फ झूठे वादे किए गए जिससे देश के अर्थतंत्र के सारे पैरामीटर औंधे मुंह गिर गए थे। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि 2014 में 30 साल बाद देश की जनता ने मोदी जी के नेतृत्व वाली पूर्ण बहुमत की सरकार बनाई। उन्होंने जोर दिया कि नरेंद्र मोदी सरकार ने देश की स्थिति को बदला है। प्रधानमंत्री की दूरदर्शी नीतियों के कारण देश में दीर्घकालिक विकास की नींव रखी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *