अगर भारत पुलवामा हमले पर प्रमाण दे तो निश्चित रूप से कार्यवाही होगीः पाकिस्तान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा है कि भारत बिना प्रमाण के आरोप लगाना बंद करे और अगर वह पुलवामा हमले के संबंध में प्रमाण दे तो निश्चित रूप से कार्यवाही की जाएगी।

इमरान ख़ान ने मंगलवार को एक बयान जारी करके कहा कि भारत पुलवामा हमले के संबंध में किसी प्रमाण के बिना पाकिस्तान पर आरोप लगा रही है जबकि इस हमले से पाकिस्तान को कोई लाभ नहीं होगा। उन्होंने कहा है कि सऊदी अरब के युवराज के दौरे के कारण हमने भारत का जवाब नहीं दिया था लेकिन अब हम कह रहे हैं कि अगर भारत सरकार हमें कोई प्रमाण देगी तो हम इस मामले पर जांच के लिए तैयार हैं।

इमरान ख़ान ने कहा कि पिछले पंद्रह साल से हम आतंकवाद के विरुद्ध लड़ रहे हैं और आतंकवादी कार्यवाहियों से हमें कोई फ़ायदा नहीं है। उन्होंने कहा कि जब भी कश्मीर में कुछ होता है तो पाकिस्तान पर आरोप लगा दिया जाता है। इमरान ख़ान ने कहा कि भारत में लोग कह रहे हैं कि पाकिस्तान को सबक़ सिखाना चाहिए जबकि कोई भी क़ानून किसी को भी जज बनने की अनुमति नहीं देता है। उन्होंने कहा कि चूंकि भारत में चुनाव का साल है इसलिए इस तरह की बातें की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि अगर भारत यह सोचता है कि पाकिस्तान पर हमला करना चाहिए तो हम जवाब देने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। उन्होंने कहा कि हम जानते हैं कि युद्ध शुरू करना आसान है मगर उसे ख़त्म करना बहुत मुश्किल है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर भारत इस हमले के बारे में कोई जांच कराना चाहता है तो हम उसके लिए तैयार हैं। इमरान ख़ान ने कहा कि हम आतंकवाद पर बात करने के लिए तैयार हैं और हम इसे ख़त्म करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को आतंकवाद से काफ़ी नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि एक नई सोच ज़रूरी है और अगर आज अफ़ग़ानिस्तान के अंदर यह तय हो चुका है कि सेना ही हल नहीं है, तो भारत में भी कश्मीर को लेकर बात होनी चाहिए। इमरान ख़ान ने कहा कि दोनों देशों के बीच जो भी समस्या है वो केवल बातचीत से ही हल होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *