रेवंत का सनसनीखेज बयान, इसलिए हरीश राव को नहीं बना रहे हैं मंत्री

हैदराबाद : तेलंगाना कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष रेवंत रेड्डी ने तेलंगाना मंत्रिमंडल को लेकर सनसनी बयान दिया है। रेवंत ने कहा कि पूर्व मंत्री और सिद्दिपेट विधायक हरीश राव को मंत्रिमंडल में मौका नहीं मिलेगा। इतना ही नहीं हरीश राव के साथ चार और वरिष्ठ नेताओं को भी मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया जाएगा। मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के मंत्रिमंडल में केवल नाकाबिलों को मौका दिया जाएगा। इसके अलावा रेवंत ने टीआरएस पर अनेक प्रकार के गंभीर आरोप भी लगाये।

कार्यकारी अध्यक्ष ने सोमवार को मीडिया से आगे कहा, “मिड मानेरु, गोरेल्ली और तोटपल्ली परियोजनाओं के कामों में लगभग एक हजार करोड़ रुपये लिया गया है। केसीआर ने अपने बेनामी को ठेका दिया है। हरीश राव ने इस रकम को केसीआर को बिना बताये ही चुनाव को दौरान बांट दिये। हाल ही संपन्न तेलंगाना विधानसभा चुनाव में 26 लोगों में इस रकम को बांट दिया है।”

रेवंत ने कहा, “कुछ कांग्रेस वालों को भी रकम देने की हरीश राव ने कोशिश की है। मगर कांग्रेस वालों इस रकम को नहीं लिया है। इसी बीच हरीश राव ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से बातचीत की। इसी बीच केसीआर को इस बातचीत का पता चल गया। इसीलिए अब हरीश राव को मंत्री पद से हाथ धोना पड़ा है। यदि हरीश राव कुछ बगावत पर उतर आते है तो पासपोर्ट मामले में उसे फंसाने को भी केसीआर तैयार है।”

रेवंत रेड्डी ने कहा, “कड़ियम श्रीहरी पर एक भी भ्रष्टाचार का आरोप नहीं है। ऐसे में उनको क्यों मंत्री पद नहीं दिया जा रहा है? इसीलिए कि केसीआर के मंत्रिमंडल में मादिगा समूदाय को स्थान नहीं दिया जाएगा है। इसी तरह नायनी नरसिम्हा रेड्डी को बाजू में रखा गया है। मुख्यमंत्री केसीआर को अहंकार सर पर चढ़ गया है। शासन करना छोड़कर विरोधियों को प्रताड़ित करनेपर तुले हैं।”

रेवंत ने कहा, “केसीआर और नरेंद्र मोदी के बीच फेविकोल जैसा संबंध है। चुनाव के दौरान पटनम नरेंदर रेड्डी के पास मिले रकम के मामले को ईडी को क्यों नहीं सौंप रहे है? आईटी विभाग ने इसकी पूरी जानकारी दी है। मगर ईडी इस मामले की जांच क्यों नहीं कर रही है? इसी क्रम में आईटी और आईडी ने मेरे खिलाफ मामले दर्ज किये हैं।”

रेवंत रेड्डी ने कहा, “केसीआर द्वारा पुलवामा आतंकी हमले में मारे गये शहीदों के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित नहीं की है। यह अत्यंत निंदनीय है। केसीआर की नजर में जवान और किसानों की कोई कीमत नहीं है। पोचरम श्रीनिवास रेड्डी की मां के निधन पर केसीआर ने सांत्वना दी है। मगर देश के जवानों के परिवार को सांत्वना नहीं दी है।”

उन्होंने कहा, “निजामाबाद में आंदोलन कर रहे है किसानों की समस्याओं को हल नहीं किया जा रहा है। मैं केसीआर को सात दिन की मौलत देता हूं। यदि किसानों की समस्याओं का हल निकाला गया तो मैं खुद उनके साथ खड़ा रहू्ंगा। पार्टी की पर अंतर्गत चर्चा की जाएगी। मैं जहां पर रहूंगा पूरी तरह से संतोष रहूंगा।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *