सऊदी अरब को परमाणु हथियार बनाने की अनुमति नहीं देंगेः वाशिंग्टन

अमेरिका के उपऊर्जा मंत्री ने कहा है कि उनके देश को जब तक सऊदी अरब की ओर से इस बात की गैरेन्टी नहीं मिल जाती कि वह परमाणु ऊर्जा का प्रयोग शांतिपूर्ण लक्ष्यों के लिए करेगा तब तक तकनीक के प्रयोग व विकास में अमेरिका सऊदी अरब की सहायता नहीं करेगा।

अमेरिका सऊदी अरब को परमाणु तकनीक की खरीदारी का एक बड़ा ग्राहक समझता है परंतु अमेरिकी सांसद परमाणु तकनीक की ख़रीदारी के संबंध में सऊदी अरब के साथ एक ठोस समझौता करने के इच्छुक हैं।

अमेरिकी उपऊर्जा मंत्री ने कहा कि आप जानते हैं कि परमाणु ऊर्जा का प्रयोग दो रूपों में किया जाता है और गलत लोगों के हाथों में पड़ जाना ख़तरनाक होगा और पूरी दुनिया के लिए ख़तरनाक हो जायेगा।

सऊदी अरब ने अभी तक यूरेनियम संवर्द्धन के औचित्य में कहा है कि परमाणु समझौते के अनुसार यह अधिकार ईरान को हासिल है। एक सऊदी राजकुमार तुर्की अलफैसल ने अमेरिका के उपऊर्जा मंत्री के जवाब में सीधे तौर पर कहा है कि उनके देश के सामने अमेरिकी तकनीक के अलावा दूसरे भी विकल्प हैं।

उन्होंने इस बारे में कहा कि परमाणु ऊर्जा का बाज़ार खुला हुआ है और केवल अमेरिका नहीं है जिसके पास परमाणु तकनीक है।

उन्होंने कहा कि हमारे पास फ्रांस, रूस, और चीन भी हैं और हमारे दोस्त पाकिस्तान में और दूसरे स्थानों पर हैं। इस आधार पर अगर वे स्वयं को बाज़ार से हटा लेना चाहते हैं तो यह उनका निर्णय है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *