जान का ख़तरा” सऊदी बहनों की आस्ट्रेलिया भागने की कोशिश

एएफ़पी के अनुसार सऊदी अधिकारियों ने 18 से 20 साल की दोनों बहनों को हांग कांग के हवाई अड्डे पर उस समय रोक लिया जब वह आस्ट्रेलिया जाने का प्रयास कर रही थीं।

बताया गया है कि रीम और रोवान नामक दोनों बहनों ने अपने वकील को को बयान दिया कि उन्होंने सऊदी अधिकारियों के विरुद्ध बयान दिए और यदि उन्हें ज़बरदस्ती सऊदी अरब भेजा गया तो उन्हें मौत की सज़ा दे दी जाएगी।

दोनों बहनें सितम्बर में अपने परिवार के साथ पर्यटन के लिए श्रीलंका पहुंची थीं जहां उन्होंने हांगकांग के लिए उड़ान भरी किन्तु उनका इरादा आस्ट्रेलिया जाने का था ।

उन्होंने बताया कि सऊदी अधिकारियों ने दोनों को हांगकांग हवाई अड्डे पर रोका और अब उन्हें पिछले 6 महीने से चीन के किसी शहर में छुपा रखा हुआ है।

हांगकांग के एक वकील माइकल वेल्डर ने दोनों बहनों के बयान का हवाला दिया कि हम अपनी रक्षा के लिए घर से भागें हैं और आशा करते हैं कि वह देश जो महिला अधिकारों और समान अधिकारों के ध्वजवाहक हैं उन्हें राजनैतिक शरण दें।

वकील के बयान के अनुसार दोनों बहनों को अज्ञात लोगों ने रोका और उनका पासपोर्ट छीनकर उन्हें सऊदी अरब के हवाई जहाज़ में बिठाने का प्रयास किया।

उन्होंने बताया कि दोनों लड़कियों से पासपोर्ट लेने वाला व्यक्ति हांगकांग में सऊदी काउंसलर जनरल था किन्तु लड़कियों की प्लाइट रद्द हो गयी थी। दूसरी ओर हांगकांग में सऊदी वाणिज्य दूतावास ने मामले पर किसी भी प्रकार की टिप्पणी से इनकार किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *